नकारात्मक सोच से सकारात्मक सोच तक का सफर

हेलो फ्रेंडस ,
आपका आज का दिन अब तक कैसा बीता?
मैं उम्मीद करती हूँ अच्छा व्यतीत हुआ होगा. आप में से 7०% लोग कहेंगे की अच्छा नहीं बीता.
पर क्या आप जानते है? आप का दिन कैसा व्यतीत हो ये आपके ऊपर भी उतना ही निर्भरत करता है जितना की हमारे आसपास के माहौल या वातावरण से हमे प्रभावित लगता है. अक्सर देखा गया है, या ये कहु की मैंने भी कई बार इस तरह से महसूस किया है की हमारे अच्छे दिन कम होते है और परेशानियों से या तनाव से ग्रस्त दिन जयादा होते है. आप ने भी ये महसूस किया होगा !

पर क्या हम इसका उल्टा अपनी ज़िंदगी को कर सकते है? क्या हम अधिक से अधिक खुशियों वाला जीवन जी सकते है?
तो मेरा जवाब होगा, जी हाँ बिलकुल जी सकते है. तो अब सवाल आता है ये कैसे मुमकिन है?
इसके लिए, मै आपके समक्ष कुछ ऐसी जानकारियाँ, आपको स्मरण करना चाहती हूँ जो कि आप में से अधिकतर लोगो को ज्ञात तो है, पर शायद उसका उपयोग आप सही तरह से नहीं कर पा रहे है सफल जीवन जीने में!

आप सभी ये तो मानते ही होंगे कि कोई ना कोई शक्ति या ऊर्जा या कहे ईश्वर या खुदा है जिसकी वजह से ही हम इंसान और ये सृष्टि चलन हो रहा है.
आगे बढ़ने से पहले मै अपना एक सवाल रखना चाहती हूँ जिसका जवाब आपको स्वयं को ही देना है.
यदि आप माँ बाप है तो क्या आप अपने बच्चे का बुरा सोचेंगे कभी?
नहीं ना
उसी तरह, आपको सबसे पहले ये मानना होगा कि जो सर्वश्रेष्ठ शक्ति इस सृष्टि को चला रही है, आप उसी शक्ति का अंश है. आप में वो सभी क्षमता है जो कि उस शक्ति से आपको मिली है, बिलकुल उसी तरह जिस तरह आपको अपने माता पिता के गुण मिले है. ये ब्रह्माण्ड (यूनिवर्स) आपसे जुड़ा हुआ है और आप इस यूनिवर्स से जुड़े हुए है. और वो परम शक्ति आपको हर खुशी देना चाहती है वो आपका बुरा नहीं चाहती जिस तरह माता पिता अपनी बच्चो को हर खुशी देना चाहते है.

आपमें इतनी शक्ति है कि आप जो इच्छा करे वो पा सकते है, आप अपने इस पावर (शक्ति) से कुछ भी प्राप्त कर सकते है; जैसे कि बड़ा घर,गाड़ी, सेहत, कारोबार, धन और हर तरह कि खुशियाँ.
परन्तु इन सब को पाने के लिए आपको जानना होगा कि कैसे और आपको इन सब इच्छाओं कि पूरा करने के लिए कुछ बदलाव अपनी जीवन शैली में लाने होंगे.

मैं ये जानती हूँ, इतना आसान शायद आपको अभी लगे नहीं, पर यदि आप निरंतर प्र्यतन करे तो आप ना केवल अपनी जिंदगी को खुशहाल बना सकते है; बल्कि हर आने वाली नकारात्मक सोच को सकारातमक सोच में तब्दील कर सकते है. आपका अगला दिन कैसा हो, ये भी खुद ही सुनिश्चित कर सकते है.

इन सभी बातो का तथ्य विज्ञान के आधार पर और अदृश्य शक्ति के आधार पर भी देखा जा सकता है.
मनुस्य का अस्तित्व उसके दिमाग (ब्रेन) कि वजह से है, जबतक हमारे दिमाग कि हर इंद्री अपना काम सही ढंग से कर रही है तभी तक हम अपना जीवन जी रहे है. यह मान लेना कि दिल कि धड़कन बंद हो जाने से इंसान कि मौत होती है किसी हद्द तक सही है, मगर तर्कविशलेषण किया जाए तो ये प्रक्रिया दिमाग के सिग्नल (सन्देश) बंद हो जाने कि वजह से होती है.

इसका सीधा अर्थ निकलता है कि आपकी सारी शक्ति का केंद्र आपका सुक्षम सा दिखने वाला दिमाग है. यही दिमाग एक एंटीने कि भाँती यूनिवर्स तक आपके हर सन्देश हर तरह कि सोच को पोहचाता है. फिर चाहे वो नकारात्मक हो या फिर सकारात्मक. हम जो भी सोचते है वो होता है. अगर आप चिंता या तनाव वाली सोच सोचते है तो आप उसी तरह कि नकारात्मक चीज़ो को अपनी ओर आने कि ऊर्जा से आकर्षित करते है, तो ये बहुत ही महत्वपूर्ण है कि आप किस तरह कि सोच अधिकतर अपने दिमाग में पनपने देते है. वैज्ञानिक आधार से आपके दिमाग में सबकॉन्सियस माइंड (अचेतन मन) ओर कौन्सियस माइंड (चेतन मन) होते है.
जो आप अचेतन मन से लगातार सोचते है, वही आप अपने चेतन मन से पा सकते है. जिस तरह यह सिद्ध हुआ है कि २१ दिन लगातार एक ही चीज़ पे फोकस करने से वो हमे याद हो जाती है, या कहे कि २१ दिन में आदते बदल जाती है, उसी तरह जो हम लगातार विचार करते है वो विचार हमारे वर्त्तमान और भविस्य पर बहुत ही प्रभावपूर्ण होते है.

आपकी सोच आपके जीवन को बनाती है, तो अपने हर आने वाले ख्याल और सोच को सकारात्मक दृश्टिकोण के साचे में ढांलना शुरू करे.
अपने आगे आने वाले (Blogs)ब्लोग्स में, मै आपको टिप्स और सुझाव दूँगी आप ये जादू अपने जीवन में कैसे प्रयोग कर सकते है. तो जुड़े रहिये अपने जिंदगी को कैसे बदले ये जानलेने के लिए.
यदि आप उत्सुक है और यदि आपको पड़ना अच्छा लगता है, तो इन सब से जुडी हुई एक किताब पड़ने का सुझाव दूंगी जिसके लिंक मैंने यहाँ दिए है, आप चाहे तो इसे आर्डर कर सकते है अमेज़न (Amazon) से.

“Space” – A Space of being Yourself in yourself

Hey guys, This is my first write -up, Which I want to share with you and hope you might like it. This post is all about the random thoughts of mind which are at present going through in my mind.

“Sitting at one place and observing things & people around, is something always been pleasant experience for me.” The reason for this, may be, It gives me distraction for a while from other thoughts which leads me no where but it only gives feeling of Load and suffering.

Though I always enjoy the “Silence” in which I am right now. This silence becomes far better than those hundred thoughts which bother you unnecessary, and those thoughts have nothing to do with your life. Just it creates a negative aura around you.

I know, How I feel happy even when, no one is by my-side. Somewhere, something is there inside me too. because of that most of the time I wish to feel life alone, from my eyes from my prospective and from my views. I hope some of you also feels the same way.

Perhaps, It is known as word called “Space” – A Space of being Yourself in yourself and for yourself.

Hmm, So while writing your own thinking or giving words to your unknowing thoughts, you Should get the place & environment, Where you can have feel good factor. Trust me, you really enjoy that moment of being with yourself.

Like I am feeling at this moment, The open corridor of #Dwarka, Roaming Buddies around, Teenage girls clicking selfie, Some sweet teen couples and the best thing is soothing music in back ground, with hot coffee or tea it would be the great combination.

Among all those things, my eye got stuck to see Three Buddies, two girls and a boy enjoying the birthday celebration of their friend, I can see the power of girls Lol, they have done good makeover of their friend with whole cake. This moment has splashed smile, laughter & smile on their faces. it reminded me my childhood. They all are so happy with each other. And within 15-20 mins this moment of cherish, Laughter & smile has become a moment of ‘Nostalgic’.

That’s how life is, passing on time to time. Chain of moments, Like everyone is tiding a string of pearls. It is a Necklace of Time threaded together Which makes Beautiful life. Life of Sounds, Life of beautiful views, life of Nature, life of everything from the earth to the sky.

This creation is Magical and Wonderful however this is how we come to know sometime Yes, the creation of Almighty is Amazingly wonderful. At a glance of observing my own thoughts and putting those on the blog post. I’ve realized it again with this small event of teenager that How beautiful is life, you can find your own smile when you see other people smiling.

I am thankful for this blog writing, it kept me away from thinking of unwanted thoughts for a while and made me feel. “Life is Wonderful and I am blessed.” This moment is special which is going to become “it Was”. I am happy that I somehow captured it in my own way. So make your every moment lovable, enjoy the little things, Love yourself. “

Arti – a_brightensoul