कोरोना वाइरस और उससे जुडी शंकाएं –

कोविड-19 “2020 की वैश्विक महामारी”

क्या है कोरोना वाइरस – कोरोना वाइरस बहुत सारे वाइरस का संघटित रूप है जो कि इंसान और जानवर में बहुत ही घातक बीमारी का कारण बन सकता है| कोरोना वाइरस अलग-अलग तरह के होते है जो कि आम सर्दी से लेकर, जानलेवा बीमारी का कारण भी हो सकते है|  ये वाइरस हमारे स्वांस लेने वाले आंतरिक अंगो को यानी रेस्प्रिटरी फंक्शन को ख़राब कर सकता है जिससे इंसान के फेफड़े स्वांस नहीं ले पाते और उसकी मृत्यु हो जाती है|

COVID -19

इस समय जो कोरोना वाइरस पूरे विशव को काल बनकर निगलने में लगा हुआ है वो COVID -19 है| ये COVID -19 बीमारी संक्रमण से फैलने वाली बीमारी है, जो चीन के वूहान से शुरू हुयी| जिसका भयानक परिणाम आज पूरा विश्व भुगत रहा है| अनगिनत लोग इससे संकर्मित हो चुके है तथा हज़ारो की तादात में लोग मर रहे| W.H.O ने इसे महामारी घोषित कर दिया है| लोग संकर्मित ना हो इससे बचने के लिए कई देशो में लॉक-डाउन (पूर्ण बंद) की स्थिति हो चुकी है|

कई देशो में लॉक-डाउन

COVID -19 के चलते कई तरह के सवाल और कई भ्रांतिया भी लोगो के मन में उत्पन हो गयी है| इन्ही शंकाओ के चलते लोगो में डर बढ़ता जा रहा है और कई लोग अफवाहों को बढ़ावा दे रहे है| इस समय हम सबको उन सभी शंकाओ तथा सवालो के जवाब जानना बहुत जरुरी है ताकि हम अपना और अपने परिवार जानो को इस दानवरूपी COVID -19 से सुरक्षित रख सके-

क्या COVID -19 – SARS ही जैसी बीमारी है? – नहीं| यद्यपि COVID -19 और SARS (Severe Acute Respiratory Syndrome) का प्रकोप अनुवांशिक रूप से सामान होते है परन्तु COVID -19 एक संक्रमण से फैलने वाली बीमारी है| जबकि SARS घातक बीमारी थी किन्तु इस बीमारी ने दुनिया में संक्रमित महामारी का रूप नहीं लिया|

COVID -19 VS SARS

क्या मास्क हर किसी को पहनने चाहिए? मास्क सिर्फ उनको ही पहनने चाहिए जो बीमार है| जिन्हे सर्दी खांसी हो रखी है या फिर आपके आसपास कोई वयक्ति खांसी से ग्रसित हो| अगर आप ना तो बीमार है ना ऐसे मरीज़ के संपर्क में है तो मास्क पहनने की कोई आवशयकता नहीं है| आप मास्क को व्यर्थ ही ज़ाया कर रहे है, वैसे ही दुनिया में इस समय मास्क की कमी हो रखी है|

यह वाइरस हवा में होता है ? – COVID-19 किसी के छींकने, खांसने और बात करते वक़्त उनके मुँह से निकले ड्रॉपलेट (बूंदो) से संचारित होता है यह ड्रॉप्लेट्स हवा में नहीं टिक पाती और किसी पे गिर जाती है| जैसे फर्श पे, पलंग पे दरवाजो पे, यदि आप इन सतहों को उस वक़्त छूते है और अपने हाथो को अपने नाक मुँह या कान पे लगाते है तो आप COVID -19 से संकर्मित हो सकते है|

COVID-19-मुँह से निकले ड्रॉपलेट में

कोरोना वाइरस पालतू कुत्ते या बिल्ली से भी हो सकता है ?- W.H.O द्वारा अब तक की जानकारी के अनुसार ऐसा अब तक कही सिद्ध नहीं हुआ ना ही ऐसे किसी जानवर को COVID -19 होने की पुष्टि हुयी है| जैसे की ये बताया गया है की ये ड्रॉपलेट यानी छींकते या खांसते समय थूक की बूंदो से संचारित होता है|

अत्यधिक सर्दी या अत्यधिक गर्मी से ये वाइरस ख़त्म हो जाता है ? अब तक के मिले प्रमाणों से पता लगा है की COVID -19 कही भी हो सकता है | इसका गर्मी, सर्दी या उमस भरे इलाको से कोई लेना देना नहीं है| इंसान के शरीर का सामान्य तापमान बाहर के तापमान के अनुसार लगभग 36.5 °C (डिग्री सेल्सियस) से 37°C के बीच होता है| तो ऐसी कोई वजह नहीं जिससे ये मान लिया जाए की अत्यधिक सर्दी या अत्यधिक गर्मी से ये वाइरस ख़त्म हो जाता है|

एल्कोहल (शराब) का सेवन करने या एल्कोहल का अपने पर स्प्रे करने से, कोरोना वाइरस मर जाता है?- नहीं एल्कोहल सेवन से या उसको अपने ऊपर छिड़कने से ये वाइरस मरता नहीं है|बल्कि ‘एल्कोहल’ किसी भी सतह पर कीटाणुनाशक के रूप में दिए गए निर्देशों के अनुसार प्रयोग किया जाना चाहिए| डॉक्टरों की सलाह के अनुसार जो लोग शराब और बीड़ी सिगरेट का सेवन करते है, उनको इसका सेवन नहीं करना चाहिए अन्यथा उनको इस बीमारी से खतरा रहेगा|

यदि आप सांस को 10 सेकंड से अधिक रोक पाते है तो आपको इससे खतरा नहीं है?- यदि आप अपनी सांस को बिना खाँसे 10 सेकंड या उससे से अधिक रोकने में सक्षम होते है तो इसका अर्थ ये कतई नहीं कि आपको कोरोना वाइरस नहीं हो सकता या आपको फेफड़ो से संबंधित कोई भी बीमारी नहीं हो सकती| जबकि बातये गए इन लक्षणों का गंभीर रूप (निमोनिया) भी इस COVID –19 कारण बन सकता है| तो ऐसे भ्रम से बचे और सिर्फ प्रयोगशाला में की गयी जांच को ही COVID –19 का प्रमाण माने|

क्या सभी को COVID – 19 टेस्ट या जांच कराने की आवश्यकता है? – इस प्रश्न के उत्तर से पहले यह जानना बहुत जरुरी है कि इस COVID – 19  के क्या लक्षण होते है – इस बीमारी के लक्षण में मुख्यत: बुखार, बदन दर्द, सूखी खांसी और सांस उखड़ने (सांस लेने में दिक्कत) जैसे होते है| परन्तु इस बीमारी के होने का चक्र 2 से 14 दिन के बीच होता है, यानी यदि कोई इस वाइरस से संक्रमित हो जाता है तो पहले कुछ दिन आपको इसका पता चलने के संकेत बहुत तुच्छ या सौम्य दिख सकते है या ना के बराबर भी होते है| ऐसा इसलिए होता है क्युकी हमारा आंतरिक इम्यून सिस्टम (प्रतिरक्षा प्रणाली) इसको रोकने की कोशिश करता है और जैसे जैसे ये शक्ति लड़ने में कमजोर होती जाती है इस वाइरस के लक्षण प्रबल हो जाते है| यह निर्भर करता है की आपका इम्यून सिस्टम (प्रतिरक्षा प्रणाली) कितना प्रबल है| वृद्ध व बढ़ती उम्र के व्यक्ति जिनको फेफड़ो की बीमारी, डाइबिटीज़, ब्लड प्रेशर या दिल की बीमारी है उनमे इस बीमारी के होने का खतरा अधिक रहता है| तो यह जरुरी है कि उनका खासतौर पर ख्याल रखे उन्हें घर में ही रखे तथा सामाजिक दूरी बनाये रखने को कहे|

Test of COVID-19

COVID – 19 टेस्ट करने की आवश्यकता सबको नहीं होती| यदि कोई माइल्ड (सौम्य) ही बीमार है तो वो घर पे देखभाल करके ठीक हो सकती है| लेकिन यदि आपको सूखी खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ है, छाती में दबाव या होंठ नीले लगे तो शीघ्र ही COVID -19 की जांच कराये और खुद को अपने परिवारजनों से अलग रखे और सामाजिक बनाये दूरी रखे ताकि और लोगो तक संक्रमण ना फैले| खांसते व छींकते समय मास्क, रुमाल, टिश्यू या अपनी बाजू को मुँह के आगे रखे|

क्या सावधानी बरते? –इस कोरोना वाइरस को पराजित करने का सबसे प्रभावी तरीका अब तक यही है कि अपने हाथो बार बार धोये| कम से कम 20 सेकंड तक अपने हाथो को व उंगलियों के बीच अच्छे से साफ़ करे| किसी भी चीज़ को छू लेने के बाद या किसी भी वस्तु का उपयोग करने से पहले अच्छे से हाथ धोये| बार बार अपने चेहरे को न छुये| सबसे महत्त्वपूर्ण है कि घर में ही रहे और सुरक्षित रहे| यदि किसी आपातकालीन स्थिति में आप कही जाते है तो भी ध्यान रखे किसी भी व्यक्ति से कम से कम 1 मीटर कि दूरी बनाये रखे| जहाँ हाथ धोने कि सुविधा न हो अपने साथ सेनेटाइजर (प्रक्षालक) रखे उसे हाथो पे लगाए| खांसते या छीकते समय मुँह के आगे मास्क, रुमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करे और उपयोग के बाद उस टिश्यू को ढक्कनदार कूड़े के डब्बे में डाल दे, या फिर खांसते या छींकते वक़्त अपनी बाजू मुँह के आगे रखे|

हम सभी के लिए इस समय यह बहुत जरुरी है कि हम इन बचाव के निर्देशों का पालन करके खुद को व अपने अन्य देशवासियो को सुरक्षित रख सकते है| जब तक कि हमारे अंतर्राष्टीय वैज्ञानिक इस बीमारी का सही उपचार नहीं ढूंढ लेते तब तक हमारा यह सहयोग कई लोग कि ज़िंदगिया बचा सकता है|

"घर पे रहे,स्वस्थ रहे"

Use mask- Check the amazon link to buy good quality mask